HBSE Class 9 Hindi Question Paper 2023 Answer Key

Haryana Board (HBSE) Class 9 Hindi Question Paper 2023 Answer Key. Haryana Board Solved Question Paper Class 9 Hindi 2023. HBSE 9th Question Paper Download 2023. HBSE Class 9 Hindi Paper Solution 2023. Haryana Board Class 9th Hindi Question Paper 2023 Pdf Download with Answer. HBSE Class 9 Hindi Previous Year Question Paper with Answer. 

 

HBSE Class 9 Hindi Question Paper 2023 Answer Key


 

1. निम्नलिखित प्रश्नों के यथानिर्दिष्ट उत्तर दीजिए :
(क) विकारी शब्द किसे कहते हैं? उदाहरण सहित स्पष्ट कीजिए।
उत्तर – जिन शब्दों का रूप लिंग, वचन और कारक के कारण परिवर्तित हो जाता है विकारी शब्द कहलाते हैं, जैसे- बूढ़ा से बुढ़ापा, बुढ़िया आदि शब्द बन सकते हैं।

(ख) निम्नलिखित मुहावरों का अर्थ लिखकर उनका वाक्यों में प्रयोग कीजिए :
आस्तीन का साँप, घोड़े बेचकर सोना
उत्तर : आस्तीन का साँप – धोखेबाज (मेरे पिता का दोस्त रमेश आस्तीन का साँप है)
घोड़े बेचकर सोना – निश्चिन्त होना (रोहित की परीक्षा समाप्त हो गई है, इसलिए वह घोड़े बेचकर सो रहा है)

(ग) समास विग्रह करते हुए, समास का नाम लिखिए :
शताब्दी, हस्तलिखित
उत्तर : शताब्दी – सौ सालों का समूह (द्विगु समास)
हस्तलिखित – हाथ द्वारा लिखित (करण तत्पुरुष समास)

(घ) अनेकार्थी शब्द लिखिए :
कक्ष, अंक
उत्तर : कक्ष – कमरा, प्रकोष्ठ, कोठरी
अंक – संख्या, चिह्न, गोद

(ङ) वाक्य किसे कहते हैं? रचना के आधार पर वाक्य के कितने भेद हैं? भेदों का उदाहरण वर्णन कीजिए।
उत्तर – दो या दो से अधिक शब्दों के सार्थक (जिसका कुछ अर्थ हो) समूह को, वाक्य कहते हैं। रचना के आधार पर वाक्य के तीन भेद होते हैं – सरल वाक्य, संयुक्त वाक्य तथा मिश्रित वाक्य।

2. निम्नलिखित में से किसी एक विषय पर लगभग 250 शब्दों में निबन्ध लिखिए :
(क) राष्ट्रभाषा हिन्दी
(ख) विद्यार्थी और अनुशासन
(ग) मेरे जीवन का लक्ष्य
(घ) ऋतुराज बसंत
(ङ) विज्ञान वरदान या अभिशाप
उत्तर – खुद करे।

3. अपने विद्यालय के मुख्याध्यापक को एक पत्र लिखिए, जिसमें खेलों की आवश्यक तैयारी तथा खेल का सामान उपलब्ध करवाने की प्रार्थना की हो।
उत्तर –
सेवा में
प्रधानाचार्य जी,
अ ब स स्कूल,
बाढ़डा (चरखी दादरी)
विषय : विद्यालय में खेल सामग्री उपलब्ध कराने हेतु पत्र
महोदय,
सविनय निवेदन यह है कि मैं आपके विद्यालय का कक्षा 9वी ‘ब’ का छात्र हूँ। मैं इस पत्र के माध्यम से विद्यालय में खेल सामग्री उपलब्ध कराने और अपनी खेल की तैयारी के बारे में बात करना चाहता हूँ। हमारे विद्यालय में खेल का महत्व बहुत उच्च है और हम सभी छात्रों को खेल में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। मुझे संघर्ष करना पड़ता है क्योंकि हमारे पास सही खेल का सामान नहीं है। हमें कुछ फुटबॉल, क्रिकेट, बैडमिंटन, टेनिस, वॉलीबॉल, और हॉकी के सामान की आवश्यकता है। मैं आपसे अनुरोध करता हूँ कि आप विद्यालय के लिए इन सभी खेलों का सामान प्रदान करें। हमें उन्हें खेलने के लिए आवश्यक तैयारी भी करनी होगी जैसे कि खेल के मैदान का सुधार, विभिन्न खेलों के लिए मैदानों का उपयोग और खेलों के लिए पर्याप्त स्थान।
अतः प्रार्थना है की हमारे विद्यालय में खेल का का सामान उपलब्ध कराने की कृपा करें।
आपका आज्ञाकारी शिष्य
विकास कुमार
9वी ‘ब’

अथवा

कुसंगति से बचने के लिए अपने छोटे भाई को शिक्षा भरा पत्र लिखिए।
उत्तर –
परीक्षा भवन
चरखी दादरी
12 मार्च 2023
प्रिय छोटे भाई रोहित,
शुभ आशीर्वाद
मुझे खुशी होती है कि तुम अभी तक अपनी शिक्षा के लिए बहुत संवेदनशील हो। मैं तुम्हें एक महत्वपूर्ण सलाह देना चाहूंगा कि तुम कुसंगति से दूर रहो। कुसंगति से बचने के लिए, तुम्हें संयमी होना होगा। तुम्हें अपने मित्रों का चयन सावधानीपूर्वक करना होगा। कुछ मित्र ऐसे होते हैं जो हमेशा गलत कामों में लगे रहते हैं, जो तुम्हारे लिए हानिकारक हो सकते हैं। तुम्हें स्कूल में ध्यान केंद्रित करना चाहिए। तुम्हें नियमित रूप से कक्षा में उपस्थित होना चाहिए। अपने अध्ययन को सबसे महत्वपूर्ण मानना चाहिए। इसके अलावा, तुम्हें अपने व्यक्तिगत जीवन को स्वस्थ रखने के लिए समय निकालना चाहिए, नियमित रूप से व्यायाम करें, सही खानपान करें और सही समय पर सोए।
मुझे पूरी उम्मीद है कि तुम संयमी होकर सफल होगे। मैं हमेशा तुम्हारे साथ हूं, अगर कोई समस्या हो तो मुझसे बात करना मत भूलना।
तुम्हारा भाई,
अमित कुमार

4. निम्नलिखित पंक्तियों में प्रयुक्त अलंकारों के नाम बताइए :
(क) नदियाँ जिनकी यश धारा-सी।
बहती है अब भी निशि-वासर।
उत्तर – उपमा अलंकार

(ख) मुदित महीपति मंदिर आए।
सेवक सचिव सुमंत बुलाए।
उत्तर – अनुप्रास अलंकार

(ग) हनुमान की पूँछ को लग ना पाई आग।
लंका सिगरी जल गई, गए निशाचर भाग।
उत्तर – अतिशयोक्ति अलंकार

5. निम्नलिखित बहुविकल्पीय प्रश्नों के सही विकल्प चुनकर उत्तर-पुस्तिका में लिखिए :
(क) सहज दुलीचा किसका प्रतीक है ?
(i) सहज भक्ति भावना का
(ii) सहज भोजन का
(iii) सहज विचार का
(iv) सहज जीवन का
उत्तर – (i) सहज भक्ति भावना का

(ख) कवयित्रि को कौन-सी चाह घेरे हुई थी ?
(i) बगीचे में जाने की
(ii) सैर करने की
(iii) घर जाने की
(iv) देहली जाने की
उत्तर – (iii) घर जाने की

(ग) कविवर रसखान पशु की योनि में होने पर कहाँ चरना चाहते हैं ?
(i) नंद की गायों के बीच
(ii) घास के मैदान में
(iii) चरागाह में
(iv) किसान के खेत में
उत्तर – (i) नंद की गायों के बीच

(घ) “कैदी और कोकिला” कविता के आधार पर कवि ने कौन-सा गहना पहना हुआ है ?
(i) कंगन
(ii) घड़ी
(iii) हथकड़ी
(iv) सोने का कड़ा
उत्तर – (iii) हथकड़ी

(ङ) कवि को किस पक्षी का मीठा स्वर सुनाई पड़ रहा है ?
(i) सुग्गे का
(ii) कोयल का
(iii) मोर का
(iv) कबूतर का
उत्तर – (i) सुग्गे का

6. निम्नलिखित काव्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर दीजिए :
मोरपंखा सिर ऊपर राखिहीं, गुंज की माल गरे पहिरौंगी।
ओढ़ि पीतंबर ले लकुटी बन गोंधन ग्वारिन संग फिरौंगी।
भावतो मोहि मेरो रसखानि सों तेरे कहे सब स्वांग करौंगी।
या मुरली की अधरान धरी अधरा न धरौंगी।
(क) कवि व कविता का नाम लिखिए।
उत्तर : कवि – रसखान, कविता – सवैये

(ख) सखी के कहने पर गोपिका क्या-क्या स्वांग भरने को तैयार है ?
उत्तर – वह मोर का पंख अपने सिर पर रख, गुंज की माला गले में पहन, पीला वस्त्र ओढ़कर और हाथ में लाठी लेकर ग्वालों के साथ वन में गुमने को तैयार है।

(ग) प्रस्तुत पद के भाव-सौन्दर्य को स्पष्ट कीजिए।
उत्तर – प्रस्तुत पद में एक गोपी दूसरी गोपी (सखी) से कहती है कि मैं अपने प्रिय कृष्ण को पाने के लिए उनकी इच्छानुसार सभी स्वाँग करने के लिए तैयार हूँ।

(घ) ‘मुरली-मुरलीधर’ में अलंकार बताइए।
उत्तर – अनुप्रास अलंकार

(ङ) प्रस्तुत सवैये का शिल्प सौन्दर्य स्पष्ट कीजिए।
उत्तर – कवि ने सरल एवं सहज ब्रज भाषा का प्रयोग किया है।

7. निम्नलिखित काव्यांश का भाव-सौन्दर्य, शिल्प/काव्य सौन्दर्य एवं भाषा वैशिष्ट्य स्पष्ट कीजिए :
पर आज जिधर भी पैर करके सोओ,
वही दक्षिण दिशा हो जाती है।
सभी दिशाओं में यमराज के आलीशान महल है।
और वे सभी में एक साथ,
अपनी दहकती आँखों सहित विराजते हैं।
माँ अब नहीं है,
और यमराज की दिशा भी वह नहीं रही,
जो माँ जानती थी।
(क) काव्य/शिल्प सौन्दर्य स्पष्ट कीजिए।
उत्तर – संपूर्ण पद में आज की सभ्यता के विकास की दोषपूर्ण स्थिति को यथार्थ रूप में उजागर किया गया है।

(ख) भाव-सौन्दर्य स्पष्ट कीजिए।
उत्तर – प्रस्तुत पंक्तियों का भाव यह यह कि आज हम संसार के सभी कोने में असुरक्षित हैं। आतंक तथा हिंसा ने यमराज के रुप में आज संपूर्ण सृष्टि पर अपना कब्जा कर लिया है। केवल यमराज का चेहरा बदल गया है। वह आज नए-नए रुपों में हमारे प्राण लेने के लिए सर्वत्र हैं।

(ग) भाषा वैशिष्ट्य स्पष्ट कीजिए।
उत्तर – भाषा व्यंग्यपूर्ण है। भाषा भावाभिव्यक्ति में पूर्णतः सक्षम है। ‘यमराज’ में श्लेष अलंकार है। शब्द-चयन विषयानुकूल है।

8. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए :
(क) बच्चों का काम पर जाना धरती के एक बड़े हादसे के समान क्यों है ?
उत्तर – किसी भी देश की उन्नति उसके युवा वर्ग की उन्नति से ही जुडी होती हैं। बच्चे भी हमारे देश का भविष्य हैं और देश की प्रगति में उनका अहम् हिस्सा हैं। यदि बच्चे पढ़ लिख नही पाते और उन्हें वो अवसर नही मिल पाते जिनके वो हक़दार हैं तो निस्चय ही उस देश का भविष्य अन्धकार में होगा। उसकी आने वाली पीढ़ी भी पिछड़ी होगी, उन्हें उनके बचपन से वंचित रखना अपने आप में घोर अपराध तथा अमानवीय कर्म है। इसलिए बच्चों का काम पर जाना धरती के एक बड़े हादसे के समान है।

(ख) मित्रता के पीछे लोगों की सामान्यतः क्या भावना निहित होती है ?
उत्तर – सामान्यतया लोग किसी व्यक्ति का हँसमुख चेहरा, उसके बात करने का तरीका, उसकी चालाकी, उसकी निर्भीकता आदि गुणों को देखकर ही उससे मित्रता कर लेते हैं। एक सच्चा मित्र कभी भी आप की पीठ-पीछे बुराई नहीं करता, वह कभी भी आप की चीज़ें नहीं चुराता और आप से झूठ भी नहीं बोलता। सच्चा मित्र हमेशा आप की मदद करने को तैयार रहता है। पीठ पीछे बुराई करने वाला, कभी भी सच्चा मित्र नही होता।

9. निम्नलिखित बहुविकल्पीय प्रश्नों के सही विकल्प चुनकर उत्तर-पुस्तिका में लिखिए :
(क) ‘दो बैलों की कथा’ कहानी के लेखक कौन हैं ?
(i) महादेवी वर्मा
(ii) जाबिर हुसैन
(iii) प्रेमचंद
(iv) हजारी प्रसाद द्विवेदी
उत्तर – (iii) प्रेमचंद

(ख) ‘तिङरी समाधि-गिरि’ किसका नाम है ?
(i) मैदान का
(ii) छोटी सी पहाड़ी का
(iii) मंदिर का
(iv) गाँव का
उत्तर – (ii) छोटी सी पहाड़ी का

(ग) उपभोक्तावाद की संस्कृति में किसका घोर अपव्यय हो रहा है ?
(i) धर्म का
(ii) सीमित साधनों का
(iii) भावनाओं का
(iv) पारस्परिक संबंधों का
उत्तर – (ii) सीमित साधनों का

(घ) लेखक ने सालिम अली की मौत का कारण किस बीमारी को बताया है ?
(i) कैंसर
(ii) मलेरिया
(iii) तपेदिक
(iv) हैजा
उत्तर – (i) कैंसर

(ङ) लेखक के अनुसार किसका किससे अधिक मूल्य रहा है ?
(i) आदमी का फोटो से
(ii) जूते का टोपी से
(iii) पुरुष का स्त्री से
(iv) इंसानियत का इंसान से
उत्तर – (ii) जूते का टोपी से

10. निम्नलिखित गद्यांश को पढ़कर नीचे लिखे प्रश्नों के उत्तर दीजिए :
सरकार खुफिया विभाग और पुलिस पर उतना खर्च नहीं करती और वहाँ गवाह भी तो कोई नहीं मिल सकता। डकैत पहिले आदमी को मार डालते हैं, उसके बाद देखते हैं कि कुछ पैसा है कि नहीं। हथियार का कानून ना रहने के कारण यहाँ लाठी की तरह लोग पिस्तौल, बंदूक लिए फिरते हैं। डाकू यदि जान से ना मारे तो खुद उसे अपने प्राणों का खतरा है।
(क) पाठ का नाम व लेखक का नाम बताइए।
उत्तर : पाठ – ल्हासा की ओर, लेखक – राहुल सांकृत्यायन

(ख) तिब्बत में लोग लाठी की बजाए पिस्तौल या बंदूक क्यों रखते हैं ?
उत्तर – हथियार का कानून ना रहने के कारण।

(ग) आदमी को लूटने से पहले क्यों मार देते हैं ?
उत्तर – अपने प्राणों का खतरा समझ कर।

(घ) तिब्बत में लोगों की सुरक्षा का क्या प्रबन्ध है ?
उत्तर – कोई उचित प्रबंध नही है, सरकार खुफिया विभाग और पुलिस पर उतना खर्च नहीं करती।

(ङ) प्रस्तुत गंद्याश का आशय स्पष्ट कीजिए।
उत्तर – गंद्याश के अनुसार तिब्बत मे कानून व्यवस्था अच्छी नहीं है। डाकूओ के लिए लूटपाट करके या खून करके बच निकलना आसान है, निर्जन स्थान होने के कारण कोई गवाह नही मिलता।

11. निम्नलिखित प्रश्नों के संक्षिप्त उत्तर दीजिए :
(क) उचित समय चले जाने पर पछतावा क्यों करना पड़ता है ?
उत्तर – समय रहते हमें अपना काम कर लेना चाहिए। अगर समय रहते आप काम नहीं करते हैं तो समय निकल जाता है। समय के जाने के बाद आपको पछतावे का सामना करना पड़ता है। समय बहुत कीमती होता है इसलिए हमेशा समय की कद्र करनी चाहिए और जो भी काम है उनको हमेशा समय पर निपटा लेना चाहिए।

(ख) मैना जड़ पदार्थ मकान को बचाना चाहती थी, पर अंग्रेज उसे नष्ट करना चाहते थे। क्यों ?
उत्तर – मैना अपने मकान की बचाना चाहती थी क्योंकि यह मकान उसे बहुत प्रिय था। यह उसकी पैत्रिक धरोहर थी। अंग्रेज़ उस मकान को नष्ट कर देना चाहते थे क्योंकि यह मकान नानाजी जैसे और भी क्रांतिकारियों का ठिकाना हो सकता था। नाना जी ने अंग्रेज़ी सरकार को बहुत हानि पहुँचाई थी तथा अंग्रेजो की हत्या की थी।

(ग) लेखिका उर्दू-फारसी क्यों नहीं सीख पाई ?
उत्तर – लेखिका की उर्दू-फ़ारसी में बिल्कुल रुचि न होने के कारण वह उससे सीख नही पायीं। लेखिका को बचपन में उर्दू पढ़ाने के लिए जब मौलवी रखा गया तो लेखिका चारपाई के नीचे छिप गई।

12. मुंशी प्रेमचन्द अथवा महादेवी वर्मा के जीवन और साहित्यिक विशेषताओं पर प्रकाश डालिए।
उत्तर –

मुंशी प्रेमचंद

जन्म – मुंशी प्रेमचंद का जन्म सन् 1880 में बनारस के लमही गाँव में हुआ था। उनका मूल नाम धनपत राय था। प्रेमचंद का बचपन अभावों में बीता।
शिक्षा – उनकी शिक्षा बी.ए. तक ही हो पाई। उन्होंने शिक्षा विभाग में नौकरी की परंतु असहयोग आंदोलन में सक्रिय भाग लेने के लिए सरकारी नौकरी से त्यागपत्र दे दिया और लेखन कार्य के प्रति पूरी तरह समर्पित हो गए।
रचनाएं – प्रेमचंद की कहानियाँ मानसरोवर के आठ भागों में संकलित हैं। सेवासदन, प्रेमाश्रम, रंगभूमि, कायाकल्प, निर्मला, गबन, कर्मभूमि, गोदान उनके प्रमुख उपन्यास हैं। उन्होंने हंस, जागरण, माधुरी आदि पत्रिकाओं का संपादन भी किया।
साहित्यिक विशेषताएं – कथा साहित्य के अतिरिक्त प्रेमचंद ने निबंध एवं अन्य प्रकार का गद्य लेखन भी प्रचुर मात्रा में किया। प्रेमचंद साहित्य को सामाजिक परिवर्तन का सशक्त माध्यम मानते थे। उन्होंने जिस गाँव और शहर के परिवेश को देखा और जिया उसकी अभिव्यक्ति उनके कथा साहित्य में मिलती है। किसानों और मज़दूरों की दयनीय स्थिति, दलितों का शोषण, समाज में स्त्री की दुर्दशा और स्वाधीनता आंदोलन आदि उनकी रचनाओं के मूल विषय हैं।
भाषा शैली – प्रेमचंद के कथा साहित्य का संसार बहुत व्यापक है। उसमें मनुष्य ही नहीं पशु-पक्षियों को भी अद्भुत आत्मीयता मिली है। बड़ी से बड़ी बात को सरल भाषा में सीधे और संक्षेप में कहना प्रेमचंद के लेखन की प्रमुख विशेषता है। उनकी भाषा सरल, सजीव एवं मुहावरेदार है तथा उन्होंने लोक प्रचलित शब्दों का प्रयोग कुशलतापूर्वक किया है।
मृत्यु – सन् 1936 में इस महान कथाकार का देहांत हो गया।

अथवा

महादेवी वर्मा 

जन्म – महादेवी वर्मा का जन्म सन् 1907 में उत्तर प्रदेश के फ़र्रुखाबाद शहर में हुआ था।
शिक्षा – उनकी शिक्षा-दीक्षा प्रयाग में हुई। प्रयाग महिला विद्यापीठ में प्राचार्या पद पर लंबे समय तक कार्य करते हुए उन्होंने लड़कियों की शिक्षा के लिए काफ़ी प्रयत्न किए।
रचनाएं – महादेवी जी छायावाद के प्रमुख कवियों में से एक थीं। नीहार, रश्मि, नीरजा, यामा, दीपशिखा उनके प्रमुख काव्य संग्रह हैं। कविता के साथ-साथ उन्होंने सशक्त गद्य रचनाएँ भी लिखी हैं जिनमें रेखाचित्र तथा संस्मरण प्रमुख हैं। अतीत के चलचित्र, स्मृति की रेखाएँ, पथ के साथी, श्रृंखला की कड़ियाँ उनकी महत्वपूर्ण गद्य रचनाएँ हैं।
साहित्यिक विशेषताएं – महादेवी वर्मा को साहित्य अकादमी एवं ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया। भारत सरकार ने उन्हें पद्मभूषण से अलंकृत किया।
भाषा शैली – उनकी भाषा शैली सरल एवं स्पष्ट है तथा शब्द चयन प्रभावपूर्ण और चित्रात्मक है।
मृत्यु – सन् 1987 में महादेवी वर्मा का देहांत हो गया।

13. कृतिका (भाग-1) व नैतिक शिक्षा के आधार पर निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए :
(क) ‘मृत्यु का तरल दूत’ किसे कहा गया है और क्यों ?
उत्तर – मोटी डोरी की शक्ल में गेरुआ-झाग-फेन में उलझे बाढ़ के पानी को लेखक ने तरल दूत कहा है क्योंकि ये वो पानी था जिसका स्वरुप तरल था पर मौत का संदेश लेकर तेज़ी से बढ़ रहा था जो अपने में शहरों, गाँवों को मृत्यु के विकराल दूत की भाँति निगल रहा था। इसलिए इसे मृत्यु का तरल दूत कहा गया है।

(ख) धन के लालच में की गई मित्रता संकट पड़ने पर काम नहीं आती। कैसे ?
उत्तर – सच्चे मित्र की पहचान विपत्ति के समय ही होती है। जो मित्र विपत्ति में आपका साथ दे वही सच्चा मित्र है। जो मित्र आपकी खुशी में शामिल होता है और दुख आने पर आपसे दूर हो जाता है तो वह आपका सच्चा मित्र नहीं है। ऐसा मित्र शत्रु से भी ज्यादा खतरनाक है। जो व्यक्ति धन के लालच में आपसे मित्रता करता है तो वह संकट पड़ने पर आपके काम नहीं आता क्योंकि उसको केवल धन के लालच होती है। जब तक उसको धन मिलता रहेगा वह आपसे मित्रता रखेगा और जब धन मिलना बंद हो जाएगा तो वह आपसे मित्रता तोड़ लेगा।

(ग) ‘रीढ़ की हड्डी’ शीर्षक की सार्थकता पर प्रकाश डालिए।
उत्तर – यह शीर्षक एकांकी की भावना को व्यक्त करने के लिए बिल्कुल सही है। इस शीर्षक में समाज की सड़ी-गली मानसिकता को व्यक्त किया गया है तथा उस पर प्रहार किया है क्योंकि रीढ़ शरीर का मुख्य हिस्सा होता है, वही उसको सीधा रखने में मदद करता है। उसमें लचीलापन होता है, जो शरीर को मुड़ने, बैठने, झुकने कूदने में मदद करता है। इस लचीलेपन के कारण ही शरीर हर कार्य करने में सक्षम है।

(घ) ‘गरीब आदमी का श्मशान नहीं उजड़ना चाहिए’ इस कथन का आशय स्पष्ट कीजिए।
उत्तर – ‘गरीब आदमी का श्मशान नहीं उजड़ना चाहिए’ – इस कथन का आशय यह है कि गरीबों के रहने का आसरा नहीं छिनना चाहिए। माटीवाली जब एक दिन मजदूरी करके घर पहुँचती है तो उसके पति की मृत्यु हो चुकी होती है। अब उसके सामने विस्थापन से ज्यादा पति के अंतिम संस्कार की चिंता होती है, बाँध के कारण सारे श्मशान पानी में डूब चूके होते हैं। उसके लिए घर और श्मशान में कोई अंतर नहीं रह जाता है। इसी दुःख के आवेश में वह यह वाक्य कहती है।

(ङ) ध्वनि-प्रदूषण ना हो इसके लिए आप किन-किन बातों का ध्यान रखते हैं? सूची बनाइए।
उत्तर – उपयोग में न होने पर उपकरणों को बंद करके, इयरप्लग का उपयोग करके, वॉल्यूम कम करके, अधिक पेड़ लगाकर, वाहनों और मशीनों का नियमित रखरखाव आदि करके हम ध्वनि प्रदूषण को कम कर सकते हैं। शोर को नियंत्रित करके हम ध्वनि प्रदूषण के नकारात्मक स्वास्थ्य प्रभावों को नियंत्रित कर सकते हैं।

 

Leave a Comment

error: