HBSE Class 12 Hindi Pre-Board Question Paper 2024 Answer Key

Haryana Board (HBSE) Class 12 Hindi Pre Board Question Paper 2024 Answer Key. Haryana Board Class 12th Pre Board Question Paper PDF Download 2024. Haryana Board Class 12th Pre Board Question Paper Hindi 2024. HBSE Class 12th Hindi Pre Board Question Paper Solution 2024. HBSE Hindi Pre Board Question Paper 2024 Class 12.

HBSE Class 12 Hindi Pre-Board Question Paper 2024 Answer Key

खण्ड – अ (बहुविकल्पीय प्रश्न)

1. निम्नलिखित अपठित गंद्याश को पढ़कर इस पर आधारित प्रश्नों के उत्तर दीजिए : (1 × 5 = 5 अंक)
‘साहित्य का आधार जीवन है। इसी आधार पर साहित्य की दीवार खड़ी है। उसकी अटारिया, मीनार और मकान बने हुए हैं, लेकिन बुनियाद मिट्टी के नीचे दबी पड़ी है। जीवन परमात्मा की सृष्टि है, इसलिए सुबोध है, सुगम है और मर्यादाओं से परिमित है। जीवन परमात्मा को अपने कामों का जवाबदेह है या नहीं, हमें मालूम नहीं, लेकिन साहित्य मनुष्य के सामने जवाबदेह है। इसके लिए कानून है, जिनसे वह इधर-उधर नहीं जा सकता। मनुष्य जीवन पर्यंत आनन्द की खोज में लगा रहता है। किसी को यह रत्न द्रव्य के रूप मिलता है, किसी को भरे-पूरे परिवार में, किसी को लंबे-चौड़े भवन में, किसी को ऐश्वर्य में, लेकिन साहित्य का आनन्द इस आनन्द से ऊँचा है। इसका आधार सुन्दर और सत्य है। वास्तव में सच्चा आनन्द सुन्दर और सत्य से मिलता है, उसी आनंद को दर्शाना, वही आनन्द उत्पन्न करना साहित्य का उ‌द्देश्य है।
प्रश्न :
(i) साहित्य और जीवन में गहरा संबंध है क्योंकि-
(क) जीवन का मुख्य आधार साहित्य है
(ख) साहित्य जीवन की मजबूत दीवार है
(ग) साहित्य का आधार जीवन है
(घ) साहित्य का आनन्द जीवन से ऊँचा है
उत्तर – (ग) साहित्य का आधार जीवन है

(ii) मनुष्य किसकी खोज में जीवन भर लगा रहता है?
(क) परमात्मा की
(ख) आनन्द की
(ग) साहित्य की
(घ) ऐश्वर्य को पाने की
उत्तर – (ख) आनन्द की

(iii) साहित्य के आनन्द का आधार है :
(क) सुन्दर और सत्य को पाना
(ख) जीवन
(ग) रत्न और ऐश्वर्य पाना
(घ) परमात्मा
उत्तर – (क) सुन्दर और सत्य को पाना

(iv) परिमिति का अर्थ है :
(क) सीमित
(ख) दबा हुआ
(ग) विस्तृत
(घ) फंसा हुआ
उत्तर – (क) सीमित

(v) साहित्य किसके सामने जवाबदेह है?
(क) परमात्मा के
(ख) जीवन के
(ग) मनुष्य के
(घ) परिवार के
उत्तर – (ग) मनुष्य के

2. निम्नलिखित काव्यांश को पढ़कर इस पर आधारित प्रश्नों के उत्तर दीजिए : (1 × 5 = 5 अंक)
हर किरण, तेरी संदेश वाहिका
पवन, गीत तेरे गाता
तेरे चरणों को छूने को
लालायित हिमगिरि का माथा!
तुझसे ही सूर्य प्रकाशित है
आलोक सृष्टि में तेरा है,
संपूर्ण सृष्टि का रोम-रोम
चिर ऋणी, उपासक तेरा है।
अगणित आकाश गंगाएँ
नन्हीं बूंदे तेरे आगे
तू आदि-अंत से मुक्त
काल-अस्तित्व हीन तेरे आगे!
हे जगत् नियंता, जगत-पिता,
है व्याप तेरा कितना ईश्वर,
तेरे चरणों में नतमस्तक,
कितनी धरती, कितने अंबर!
प्रश्न :
(i) ईश्वर के चरण चूमने के लिए कौन लालायित रहता है?
(क) पहाड़
(ख) नदियाँ
(ग) दरिया
(घ) हिमगिरी
उत्तर – (घ) हिमगिरी

(ii) किसका रोम-रोम तेरा चिर ऋणी है?
(क) छोटी सृष्टि
(ख) बड़ी सृष्टि
(ग) कम सृष्टि
(घ) संपूर्ण सृष्टि
उत्तर – (घ) संपूर्ण सृष्टि

(iii) जगत-पिता किसे कहा गया है?
(क) ईश्वर
(ख) आज
(ग) संसार
(घ) समाज
उत्तर – (क) ईश्वर

(iv) सत्य कथन पर सही का चिह्न लगाइए-
(क) ईश्वर के चरणों में धरती अंबर नतमस्तक हैं।
(ख) ईश्वर के चरणों में अंबर और हवा नतमस्तक हैं।
(ग) ईश्वर के चरणों में धरती और आग नतमस्तक हैं।
(घ) ईश्वर के चरणों में आग और हवा नतमस्तक हैं।
उत्तर – (क) ईश्वर के चरणों में धरती अंबर नतमस्तक हैं।

(v) संपूर्ण सृष्टि का ‘रोम-रोम’ में कौन सा अंलकार है?
(क) अनुप्रास
(ख) यमक
(ग) श्लेष
(घ) पुनरुक्ति
उत्तर – (घ) पुनरुक्ति

3. काव्य पर आधारित निम्नलिखित बहुविकल्पीय प्रश्नों के उत्तर दीजिए : (1 × 5 = 5 अंक)
(i) ‘कैमरे में बंद अपाहिज’ कविता के कवि है-
(क) रघुवीर सिंह
(ख) हरिवंशराय बच्चन
(ग) मुक्तिबोध
(घ) रघुवीर सहाय
उत्तर – (घ) रघुवीर सहाय

(ii) सीधी बात भी किसके चक्कर में फँस गई?
(क) बु‌द्धि के
(ख) स्वरों के
(ग) भाषा के
(घ) ताल के
उत्तर – (ग) भाषा के

(iii) निराला ने ‘जीर्ण बाहु’ किसे कहा है?
(क) रोगी को
(ख) वृद्ध को
(ग) कृषक को
(घ) बालक को
उत्तर – (ग) कृषक को

(iv) बगुलों का कौन-सा सौंदर्य अपने आकर्षण में बांध रहा है?
(क) कायारुपी सौंदर्य
(ख) पंक्तिबद्ध सौंदर्य
(ग) रूप रूपी सौंदर्य
(घ) माया रुपी सौंदर्य
उत्तर – (ख) पंक्तिबद्ध सौंदर्य

(v) उषा कविता में उषा का जादू किससे टूटने की बात कही गई है?
(क) लाल केसर से
(ख) भोर के नभ से
(ग) सूर्योदय से
(घ) उपर्युक्त सभी से
उत्तर – (ग) सूर्योदय से

4. गद्य पर आधारित निम्नलिखित बहुविकल्पीय प्रश्नों के उत्तर दीजिए : (1 × 5 = 5 अंक)
(i) शिरीष का वृक्ष कहाँ से अपना रस खींचता है?
(क) पानी से
(ख) वायुमण्डल से
(ग) बांध से
(घ) मिट्टी से
उत्तर – (ख) वायुमण्डल से

(ii) बाज़ार दर्शन पाठ के लेखक कौन है?
(क) फणीश्वर नाथ रेणु
(ख) जैनेन्द्र कुमार
(ग) धर्मवीर भारती
(घ) हजारी प्रसाद द्विवेदी
उत्तर – (ख) जैनेन्द्र कुमार

(iii) लेखक बचपन में किस सभा का उपमंत्री था?
(क) समाज-सुधार
(ख) देवा निर्माण
(ग) नव निर्माण
(घ) कुमार-सुधार
उत्तर – (घ) कुमार-सुधार

(iv) लेखक ने काल्पनिक जगत की वस्तु किसे कहा है?
(क) राजनीति को
(ख) सि‌द्धान्त को
(ग) समता को
(घ) जातिवाद को
उत्तर – (ग) समता को

(v) भक्तिन का विवाह किस उम्र में हुआ था?
(क) पाँच वर्ष
(ख) सात वर्ष
(ग) चार वर्ष
(घ) आठ वर्ष
उत्तर – (क) पाँच वर्ष

5. वितान भाग-2 पर आधारित निम्नलिखित बहुविकल्पीय प्रश्नों के उत्तर दीजिए : (1 × 5 = 5 अंक)
(i) यशोधर बाबु दफ्तर में किस पद पर थे?
(क) डायरेक्टर
(ख) सेक्शन ऑफिसर
(ग) मैनेजर
(घ) डिप्टी मैनेजर
उत्तर – (ख) सेक्शन ऑफिसर

(ii) आनंदा (लेखक) दत्ताजी राव से मिलने क्यों गया?
(क) साग-सब्जी देने
(ख) खाना देने
(ग) अपनी पढ़ाई की बात करने
(घ) वैसे ही मिलने चला गया
उत्तर – (ग) अपनी पढ़ाई की बात करने

(iii) लेखक के दादा अपना कोल्हू सारे गाँव में सबसे पहले क्यों चलाते थे?
(क) काम, जल्दी समाप्त करने के लिए
(ख) दूसरी फसल के लिए
(ग) गुड़ की ज्यादा कीमत के लिए
(घ) खेत में पानी देने के लिए
उत्तर – (ग) गुड़ की ज्यादा कीमत के लिए

(iv) सिंधु घाटी में व्यापार व खेती कैसी थी?
(क) निम्न
(ख) मध्यम
(ग) उन्नत
(घ) इनमें से कोई नहीं
उत्तर – (ग) उन्नत

(v) मोहनजो-दड़ो की सभ्यता और संस्कृति किसकी शोभा बढ़ा रहे है?
(क) लाहौर की
(ख) अजायबघर की
(ग) दिल्ली की
(घ) लंदन की
उत्तर – (ख) अजायबघर की

6. अभिव्यक्ति एवं माध्यम पर आधारित निम्नलिखित बहुविकल्पीय प्रश्नों के उत्तर दीजिए : (1 × 5 = 5 अंक)
(i) भारत में इंटनेट पत्रकारिता करने वाली पहली वेबसाइट है :
(क) रीडिक गटकॉम (Rediff.com)
(ख) सीबी
(ग) इंडिया इंमोलाइन
(घ) तहलका डॉटकॉम
उत्तर – (क) रीडिक गटकॉम (Rediff.com)

(ii) भारत में पहला छापखाना कहाँ पर स्थापित हुआ था?
(क) बम्बई में
(ख) गोवा में
(ग) कलकता में
(घ) गुजरात में
उत्तर – (ख) गोवा में

(iii) समाचार लेखन के कितने ककार होते है?
(क) चार
(ख) पाँच
(ग) दो
(घ) छः
उत्तर – (घ) छ: (क्या, कब, कौन, कहाँ, क्यों, कैसे)

(iv) रेडियो कैसा माध्यम है?
(क) दृश्य
(ख) श्रव्य
(ग) दृश्य व श्रव्य
(घ) इनमें से कोई नहीं
उत्तर – (ख) श्रव्य

(v) विशेषीकृत रिपोर्टिंग करने वाला रिपोर्टर क्या कहलाता है?
(क) विशेष संवाददाता
(ख) संपादकीय
(ग) वेतनभोगी पत्रकार
(घ) संवाददाता
उत्तर – (क) विशेष संवाददाता

7. व्याकरण पर आधारित निम्नलिखित बहुविकल्पीय प्रश्नों के उत्तर दीजिए : (1 × 5 = 5 अंक)
(i) ‘अत्याचार’ का संधि-विच्छेद है :
(क) अन्य + चार
(ख) अति + आचार
(ग) भं + चार
(घ) अति + उचार
उत्तर – (ख) अति + आचार

(ii) ‘पीतांबर’ में कौन-सा समास है?
(क) अव्ययीभाव
(ख) द्वंद्व समास
(ग) बहुब्रीहि समास
(घ) तत्पुरुष समास
उत्तर – (ग) बहुब्रीहि समास (पीला है अम्बर जिसका अर्थात् भगवान कृष्ण)

(iii) निम्नलिखित में से शुद्ध वाक्य का चुनाव कीजिए :
(क) उस बच्चे को दृष्टि लग गई है।
(ख) उस बच्चे को नज़र लग गई है।
(ग) दृष्टि लग गई है उस बच्चे को!
(घ) नज़र उस बच्चे को लग गई है।
उत्तर – (ख) उस बच्चे को नज़र लग गई है।

(iv) आज तुमने नया पोशाक पहनी है। इस वाक्य में क्या दोष है?
(क) क्रिया संबंधी
(ख) लिंग संबंधी
(ग) वचन संबंधी
(घ) सर्वनाम संबंधी
उत्तर – (ग) वचन संबंधी (आज तुमने नई पोशाक पहनी है)

(v) निम्नलिखित में कॉलम (अ) व कॉलम (ब) के शब्दों का उनके समास से मिलान कीजिए :
कॉलम (अ) कॉलम (ब)
1. बेकाम (i) द्विगु समास
2. करकमल (ii) द्वंद्व समास
3. चौराहा (iii) कर्मधारय समास
4. माता-पिता (iv) अव्यीयभाव समास
(क) 1-(iv), 2-(iii), 3-(i), 4-(ii)
(ख) 1-(iii), 2-(i), 3-(iv), 4-(ii)
(ग) 1-(ii), 2-(iv), 3-(i), 4-(iii)
(घ) 1-(ii), 2-(i), 3-(iv), 4-(iii)
उत्तर – (क) 1-(iv), 2-(iii), 3-(i), 4-(ii)

8. नैतिक-शिक्षा पर आधारित निम्नलिखित बहुविकल्पीय प्रश्नों के उत्तर दीजिए : (1 × 5 = 5 अंक)
(i) शिकार करते समय राजा का कौन-सा अंग कट गया?
(क) अंगुली
(ख) अंगूठा
(ग) हाथ
(घ) पैर
उत्तर – (क) अंगुली

(ii) गीता में किसका अद्भुत संगम है?
(क) ज्ञान
(ख) कर्म
(ग) उपासना
(घ) उपर्युक्त सभी
उत्तर – (घ) उपर्युक्त सभी

(iii) महात्मा बुद्ध के पिता का क्या नाम था?
(क) सिद्धार्थ
(ख) शुद्धोधन
(ग) गौतम
(घ) बोधि
उत्तर – (ख) शुद्धोधन

(iv) भाग्य पर ही निर्भर रहने वाली मछली का क्या नाम था?
(क) प्रत्युत्पन्नमति
(ख) यद्भविष्य
(ग) अनागत विधाता
(घ) वसुन्धरा
उत्तर – (ख) यद्भविष्य

(v) अब्दुल हमीद को मरणोपरांत किस पद से सम्मानित किया गया?
(क) प‌द्मभूषण से
(ख) भारत रत्न से
(ग) प‌द्मश्री से
(घ) परमवीर चक्र से
उत्तर – (घ) परमवीर चक्र से

खण्ड – ब (वर्णानात्मक प्रश्न)

9. निम्नलिखित पद्यांश की सप्रसंग व्याख्या कीजिए : (5 अंक)
आंगन में लिए चाँद के टुकड़े को खड़ी
हाथों पे झुलाती है उसे गोद-भरी
रह-रह के हवा में जो लोका देती है
गूंज उठती है खिलखिलाते बच्चे की हँसी
उत्तर : प्रसंग – प्रस्तुत पद्यांश रुबाई उर्दू के मशहूर शायर फिराक गोरखपुरी द्वारा रचित है। फिराक की रुबाई में हिंदी का एक घरेलू रूप दिखाई देता है। इस रुबाई में माँ बच्चों को प्यार करती हुई हाथों में झूला झुला रही है।
व्याख्या – माँ अपने घर के आँगन में अपने चाँद के टुकड़े अर्थात् प्यारे बालक लिए हुए खड़ी है। वह बालक को हाथों पर झुला रही है। कभी उसे गोद में भर लेती है। माँ बच्चे को बार-बार हवा में उछाल-उछाल कर प्यार कर रही है। इस प्यार करने की क्रिया को लोका देना कहा जाता है। यह क्रिया बच्चे को बहुत भाती है। जब माँ बच्चे को हवा में उछाल-उछाल कर प्यार करती है तो बच्चा खुश होकर खिलखिलाकर हँस उठता है। घर के आँगन में बच्चे की हँसी की किलकारी गूँज उठती है।

अथवा

निम्नलिखित पंद्याश को पढ़कर सम्बंधित प्रश्नों के उचित उत्तर दीजिए :
बच्चे प्रत्याशा में होंगे,
नीड़ों से झांक रहे होंगे
यह ध्यान परों में चिड़ियों के भरता कितनी चंचलता है।
दिन जल्दी-जल्दी ढलता है।
प्रश्न :
(i) कवि और कविता का नाम लिखिए।
उत्तर : कवि – हरिवंशराय बच्चन, कविता – दिन जल्दी-जल्दी ढलता है।

(ii) बच्चे किस आशा से नीड़ों से बाहर झांक रहे होगे?
उत्तर – प्रत्याशा में

(iii) चिड़ियों के घोंसलों से किस दृश्य की कल्पना की गई है?
उत्तर – उतावलेपन के दृश्य की

(iv) चिड़ियों के पंखों में चंचलता क्यों उत्पन्न हो जाती है?
उत्तर – माता के इंतजार में

(v) चिड़ियों को क्यों लगता है कि दिन जल्दी-जल्दी ढल रहा है?
उत्तर – बहुत देर हो गई है, मां नहीं आई

10. निम्नलिखित ग‌द्यांश की सप्रसंग व्याख्या कीजिए : (5 अंक)
भक्तिन और मेरे बीच में सेवक स्वामी का संबंध है, यह कहना कठिन है: क्योंकि ऐसा कोई स्वामी नहीं हो सकता, जो इच्छा होने पर भी सेवक को अपनी सेवा से हटा न सके और ऐसा कोई सेवक भी नहीं सुना गया, जो स्वामी के चले जाने का आदेश पाकर अवज्ञा से हँस दे। भक्तिन को नौकर कहना उतना ही असंगत है, जितना अपने घर में बारी-बारी से आने-जाने वाले अँधेरे-उजाले और आँगन में फूलने वाले गुलाब और आम को सेवक मानना। वे जिस प्रकार एक अस्तित्व रखते है, जिसे सार्थकता देने के लिए ही हमें सुख-दुख देते हैं, उसी प्रकार भक्तिन का स्वतंत्र व्यक्तित्व अपने विकास के परिचय के लिए ही मेरे जीवन को घेरे हुए हैं।
उत्तर : प्रसंग – प्रस्तुत गद्यांश ‘लेखिका महादेवी वर्मा’ के द्वारा रचित है। यह गद्यांश ‘भक्तिन’ नामक पाठ से लिया गया है।
व्याख्या – विवेकानुसार खुद करे।

अथवा

निम्नलिखित ग‌द्यांश को पढ़कर सम्बंधित प्रश्नों के उचित उत्तर दीजिए :
लुट्टन के माता-पिता उसे नौ वर्ष की उम्र में ही अनाथ बनाकर चल बसे थे। सौभाग्यवंश शादी हो चुकी थी, वरना वह भी माँ-बाप का अनुसरण करता। विधवा सास ने पाल-पोस कर बड़ा किया। बचपन में वह गाय चराता, धारोष्ण दूध पीता और कसरत किया करता था। गाँव के लोग उसकी सास को तरह-तरह की तकलीफ दिया करते थे; लुट्टन के सिर पर कसरत की धुन लोगों से बदला लेने के लिए ही सवार हुई थी। नियमित कसरत ने किशोरावस्था में ही उसके सीने और बाँहों को सुडौल तथा मांसल बना दिया था।
प्रश्न :
(i) पाठ व लेखक का नाम लिखें।
उत्तर : पाठ – पहलवान की ढोलक, लेखक – फणीश्वर नाथ रेणु

(ii) किस आयु में लुट्टन अनाथ हो गया था?
उत्तर – 9 वर्ष

(iii) लुट्टन ने पहलवानी क्यों शुरू की?
उत्तर – लोगों से बदला लेने के लिए

(iv) बचपन में लुट्टन का पालन-पोषण किसने किया?
उत्तर – विधवा सास ने

(v) नियमित कसरत से लुट्टन के शरीर पर क्या प्रभाव पड़ा?
उत्तर – नियमित कसरत ने उसके सीने और बाँहों को सुडौल तथा मांसल बना दिया।

11. निम्नलिखित दो अप्रत्याशित विषयों में से किसी एक पर लगभग 150 शब्दों में रचनात्मक लेख लिखिए। (5 अंक)
(क) परीक्षा के दिन
(ख) मीठी वाणी – एक औषधि
उत्तर – खुद करे।

अथवा

निम्नलिखित क और ख विषयों में से किसी एक विषय पर लगभग 150 शब्दों में अपनी भावाभिव्यक्ति कीजिए।
(क) निम्नलिखित चित्र को देखकर बताएं कि इस समय इन वृद्ध महिलाओं के मन की क्या स्थिति होगी।

उत्तर – खुद करे।

(ख) आप 16 वर्ष के तरूण है। आप किसी दूसरे व्यक्ति की कार में सफर कर रहे है। अचानक सड़क पर आपके सामने कोई दुर्घटना घट जाती है। आपके सहयोगी द्वारा सहायता करने से मना करने पर आप उस घायल की किस प्रकार सहायता करेंगे। उस स्थिति का 150 शब्दों में वर्णन कीजिए।
उत्तर – खुद करे।

12. ‘काव्य खण्ड’ पर आधारित निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दिए गए अंकों के अनुसार उपयुक्त शब्दों में दीजिए : (3 + 2 = 5 अंक)
(i) ‘विप्लव रव से छोटे ही हैं शोभा पाते’ पंक्ति में ‘विप्लव रव’ से कवि क्या स्पष्ट करना चाहता है?
उत्तर – ‘विप्लव-रव’ से कवि का तात्पर्य क्रांति से है। कवि के अनुसार जब क्रांति होती है, तो गरीब लोगों में या आम जनता में जोश भर जाता है। यह वही वर्ग है, जो शोषण का शिकार होते हैं। अतः जब समाज में क्रांति होती है, तो इन्हीं से आरंभ होती है। यही क्रांति के जनक होते हैं। क्रांति का आगाज़ होते ही नए और सुनहरे भविष्य के सपने संजोने लगते हैं। यह प्रसन्नता इनके चेहरे में स्पष्ट रूप से दृष्टिगोचर होती है। कहा गया है कि यही वर्ग क्रांति के समय शोभा पाता है।

(ii) ‘बगुलों के पंख’ कविता का मूल भाव स्पष्ट कीजिए।
उत्तर – ‘बगुलों के पंख’ कविता एक सुंदर दृश्य कविता है। इसमें कवि आकाश में उड़ते बगुलों की पंक्ति को देखकर तरह-तरह की कल्पनाएँ करता है। ये बगुले कजरारे बादलों के ऊपर तैरती साँझ की सफेद काया के समान लगते हैं। यह दृश्य अत्यंत नयनाभिराम प्रतीत होता है। कवि को यह दृश्य इतना भाता है कि वह सब कुछ भूलकर इसी के सौंदर्य में अटक कर रह जाता है।

13. ‘गद्य खण्ड’ पर आधारित निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दिए गए अंकों के अनुसार उपयुक्त शब्दों में दीजिए : (3 + 2 = 5 अंक)
(i) भक्तिन के आ जाने से महादेवी अधिक देहाती कैसे हो गई?
उत्तर – भक्तिन के प्रभाव में आकर लेखिका (महादेवी) देहाती हो गई थीं। दोनों एक साथ बहुत समय तक रहीं लेकिन भक्तिन महादेवी के प्रभाव में न आ सकी। यह अवश्य हुआ कि महादेवी को भक्तिन के प्रभाव में आना पड़ा। देहाती खाने की अनेक प्रकार की विशेषताएँ बता-बताकर देहाती खाने का आदी बना दिया। उसके कारण लेखिका को रात में मकई के दलिए के साथ मट्ठा पीना पड़ा। बाजरे के तिल मिलाकर बने पुए खाने पड़े और ज्वार के भुने हुए भुट्टे की खिचड़ी खानी पड़ी। उसकी बनाई हुई सफेद महुए की लापसी को संसार के श्रेष्ठ हलवे से अधिक स्वादिष्ट मानकर खाना पड़ा। भक्तिन ने महादेवी को अपनी देहाती भाषा भी सिखा दी। इस प्रकार महादेवी भी देहाती बन गई।

(ii) शिरीष की महिमा का वर्णन अपने शब्दों में कीजिए।
उत्तर – शिरीष भयंकर गरमी, उमस, लू आदि के बीच सरस रहता है। वसंत में वह लहक उठता है तथा भादों मास तक फलता-फूलता रहता है। उसका पूरा शरीर फूलों से लदा रहता है। उमस से प्राण उबलता रहता है और लू से हृदय सूखता रहता है, तब भी शिरीष कालजयी अवधूत की भाँति जीवन की अजेयता का मंत्र प्रचार करता रहता है, वह काल व समय को जीतकर लहलहाता रहता है।

14. ‘वितान भाग-2’ पर आधारित निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दिए गए अंकों के अनुसार उपयुक्त शब्दों में दीजिए : (3 + 2 = 5 अंक)
(i) ‘जूझ’ कहानी के आधार पर दत्ता जी राव का चरित्र-चित्रण कीजिए।
उत्तर – राव साहब गांव के सम्मानित जमींदार हैं। उनके चरित्र की विशेषताएँ इस प्रकार हैं – नेक दिल, उदार और रौबीले इंसान। कभी लेखक के दादा उन्हीं के खेतों में काम किया करते थे। वे अपने गुणों के आधार पर सहायता माँगने पहुँचने वालों की सहायता करते थे। वे अपनी बात के धनी थे, जो कहते थे, वही करते थे। इसके साथ ही वे सद्व्यवहारी, परदुःखकातर और सच्चरित्र इंसान भी थे।

(ii) मुअनजो-दड़ो के अजायबघर में खुदाई के समय मिली कौन-कौन की चीजें रखी हुई है?
उत्तर – अजायबघर में जो थोड़ी सी चीजें प्रदर्शित की गई हैं, वे सिंधु सभ्यता की झलक दिखाने को काफी है। उनमें काला पड़ गया गेहूँ, ताँबे और काँसे के बर्तन, मुहरें, चाक पर बने विशाल मृद्भांड, उन पर बने काले भूरे चित्र, चौपड़ की गोटियाँ, दीये, माप तौल के पत्थर, ताँबे का आइना, मिट्टी की बैलगाड़ी और दूसरे खिलौने, दो पाटन की चक्की, कंघी, मिट्टी के कंगन, रंग-बिरंगे पत्थरों के मनके वाले हार, पत्थर के औजार, ताँबे व बहुत सारी सुइयाँ भी हैं। यहाँ नर्तकी व दाढ़ी वाले नरेश की मूर्ति भी है। इसके साथ ही अजायबघर में तैनात अली नवाज ने बताया कि कुछ सोने के गहने भी यहाँ हुआ करते थे जो चोरी हो गए हैं।

15. ‘व्याकरण’ पर आधारित निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दिए गए अंकों के अनुसार उपयुक्त शब्दों में दीजिए : (3 + 2 = 5 अंक)
(i) यमक अलंकार की परिभाषा उदाहरण सहित स्पष्ट कीजिए।
उत्तर – जिस वाक्य में एक ही शब्द की बार पुनरावृति होती है, लेकिन हर बार उसका अर्थ अलग-अलग होता है तो उसे यमक अलंकार कहते हैं। जैसे : कनक-कनक तै सौ गुनी मादकता अधिकाय
इस वाक्य में एक कनक (सोना) और दूसरा कनक (धतूरा) है।

(ii) व्यंजन संधि की परिभाषा उदाहरण सहित स्पष्ट कीजिए।
उत्तर – व्यंजन का स्वर या व्यंजन से मेल होने पर जो परिवर्तन होता है, उसे व्यंजन संधि कहते हैं। जैसे: अभी + सेक = अभिषेक

16. ‘नैतिक-शिक्षा’ पर आधारित निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दिए गए अंकों के अनुसार उपयुक्त शब्दों में दीजिए : (3 + 2 = 5 अंक)
(i) जगदीश चन्द्र बसु द्वारा विद्युत तरंगों पर किए गए शोध पर प्रकाश डालिए।
उत्तर – सन् 1885 में बसु ने शार्ट रेडियो तरंगो की भी खोज की। इन्होंने पटसन के सूक्ष्म रेशों जैसी सूक्ष्म सामग्री से विद्युत तरंगों के ध्रुवण को ग्रहण करने वाले उपकरण बनाने में भी सफलता प्राप्त की। उसकी सहायता से विद्युत् उपकरण रिसीवर तैयार किया। उन्होंने अपने प्रयोगों द्वारा वायु मण्डल में वायरलैस की तरंगों के अस्तित्व को सिद्ध किया। उन्होंने यह कार्य अपने स्वनिर्मित उपकरणों से विद्युत तरंगों को दो कमरों की दीवार पार करके तीसरे कमरे में पहुँचाकर एक तोप व एक पिस्तौल चलाकर बारूद के ढेर में विस्फोट करके दिखाया।

(ii) ‘लन्दन के इण्डिया हाउस’ में मदनलाल ढींगरा की मुलाकात किन-किन भारतीयों से हुई?
उत्तर – ‘लन्दन के इण्डिया हाउस’ में मदनलाल ढींगरा की मुलाकात श्यामजी कृष्ण वर्मा, वीरसावरकर, महादेव वापट, वीरेन्द्र नाथ चट्टोपाध्याय, हरनाम सिंह अरोड़ा, वी.बी.एस. नैय्यर, गोविन्द, अमीन तथा गंडुरंग आदि क्रान्तिकारियों से हुई।

 

Leave a Comment

error: